MAIN ZINDAGI KA SATH NIBHATA CHALA GAYA LYRICS

Spread the love

this song was sung by famous singer “mohammad rafi” from hu dono movie.

MAIN ZINDAGI KA SATH NIBHATA CHALA GAYA LYRICS in english

Main zindagi ka sath nibhata chala gaya
Har fikra ko dhuyein mein udata chala gaya
Har fikra ko dhuyein mein uda

Barbadiyon ka sog manana fizool tha
Barbadiyon ka sog manana fizool tha
Manana fizool tha, manana fizool tha

Barbadiyon ka jashn manata chala gaya
Barbadiyon ka jashn manata chala gaya
Har fikra ko dhuyein mein uda

Jo mil gaya usi ko muqaddar samajh liya
Jo mil gaya usi ko muqaddar samajh liya
Muqaddar samajh liya, muqaddar samajh liya
Jo kho gaya main usko bhulata chala gaya
Jo kho gaya main usko bhulata chala gaya
Har fikra ko dhuyein mein uda

Gham aur khushi mein fark na mehsoos ho jahan
Gham aur khushi mein fark na mehsoos ho jahan
Na mehsoos ho jahan, na mehsoos ho jahan

Main dil ko us makaam pe lata chala gaya
Main dil ko us makaam pe lata chala gaya
Main zindagi ka sath nibhata chala gaya
Har fikra ko dhuyein mein udata chala gaya

MAIN ZINDAGI KA SATH NIBHATA CHALA GAYA LYRICS in hindi

मैं ज़िन्दगी का साथ निभाता चला गया
हर फ़िक्र को धुएँ में उड़ाता चला गया
हर फ़िक्र को धुएँ में उड़ा

बरबादियों का सोग मनाना फ़जूल था
बरबादियों का सोग मनाना फ़जूल था
मनाना फ़जूल था, मनाना फ़जूल था
बरबादियों का जश्न मनाता चला गया
बरबादियों का जश्न मनाता चला गया
हर फ़िक्र को धुएँ में उड़ा

जो मिल गया उसी को मुकद्दर समझ लिया
जो मिल गया उसी को मुकद्दर समझ लिया
मुकद्दर समझ लिया, मुकद्दर समझ लिया
जो खो गया मैं उसको भुलाता चला गया
जो खो गया मैं उसको भुलाता चला गया
हर फ़िक्र को धुएँ में उड़ा

ग़म और ख़ुशी में फ़र्क़ न महसूस हो जहाँ
ग़म और ख़ुशी में फ़र्क़ न महसूस हो जहाँ
न महसूस हो जहाँ, न महसूस हो जहाँ
मैं दिल को उस मक़ाम पे लाता चला गया
मैं दिल को उस मक़ाम पे लाता चला गया

मैं ज़िन्दगी का साथ निभाता चला गया
हर फ़िक्र को धुएँ में उड़ाता चला गया
हर फ़िक्र को धुएँ में उड़ा

बरबादियों का सोग मनाना फ़जूल था
बरबादियों का सोग मनाना फ़जूल था
मनाना फ़जूल था, मनाना फ़जूल था
बरबादियों का जश्न मनाता चला गया
बरबादियों का जश्न मनाता चला गया
हर फ़िक्र को धुएँ में उड़ा

जो मिल गया उसी को मुकद्दर समझ लिया
जो मिल गया उसी को मुकद्दर समझ लिया
मुकद्दर समझ लिया, मुकद्दर समझ लिया
जो खो गया मैं उसको भुलाता चला गया
जो खो गया मैं उसको भुलाता चला गया
हर फ़िक्र को धुएँ में उड़ा

ग़म और ख़ुशी में फ़र्क़ न महसूस हो जहाँ
ग़म और ख़ुशी में फ़र्क़ न महसूस हो जहाँ
न महसूस हो जहाँ, न महसूस हो जहाँ
मैं दिल को उस मक़ाम पे लाता चला गया
मैं दिल को उस मक़ाम पे लाता चला गया

MAIN ZINDAGI KA SATH NIBHATA CHALA GAYA LYRICS

Leave a Reply

Scroll to Top